शंकराचार्य की गुफाएँ एवं भारत में आदि शंकराचार्य के चार मठों की स्थापना

By | January 30, 2019
 शंकराचार्य की गुफाएँ (ओंकारेश्वर):-

आदि गुरु शंकराचार्य सनातन हिंदू धर्म के महान संत थे, उनका जन्म केरल के कलाड़ी में हुआ था| 7 वर्ष की उम्र में ही वे अपने गुरु श्री गोविन्द भगवत्पादाचार्य से  गुरुदीक्षा के लिए नर्मदा के किनारे बसे ओमकारेश्वर पहुंचे | शंकराचार्य अपने गुरु की गुफा में 7 साल तक वह तपस्या की इसलिए गुफाएं शंकराचार्य की गुफाओं के नाम से जानी जाती है| भारत में   चारों कोनों में चार मठो की स्थापना आदि शंकराचार्य  द्वारा लिखी गई है | एक गरीब ब्राह्मण के घर पर चमत्कारी सोने की वर्षा  के कारण ‘कनकधारा स्रोत’ के रूप में जानी जाती है| इसके अलावा नर्मदा में बाढ़ की स्थिति में एक बार उन्होंने नर्मदा को अपने कमंडल में भी धारण किया था| ओंकारेश्वर में 108 फुट ऊंची धातु की बनी आदि शंकराचार्य की प्रतिमा एवं वेदांत संस्थान की स्थापना की जा रही है|   

आदि शंकराचार्य द्वारा स्थापित भारत के 4 मठ
  1. ज्योतिर्मठ: भारत के उत्तर में ज्योतिर्मठ उत्तराखण्ड के चमोली जिले के बद्रिकाश्रम में स्थित वैदिक शिक्षा तथा ज्ञान का प्रसिद्ध केंद्र है |आठवीं सदी में आदि शंकराचार्य द्वारा ज्योतिर्मठ की स्थापना की |
  2.  श्रृंगेरी मठ (वेदान्त ज्ञानमठ) : श्रृंगेरी शारदा पीठ भारत के दक्षिण में कर्नाटक राज्य के रामेश्वरम् में स्थित है|
  3. शारदा मठ(द्वारका मठ/कालिका): इसकी स्थापना  भारत के गुजरात  राज्य में द्वारकाधाम की गई है |
  4. .गोवर्धन मठ: भारत के पूर्वी भाग ओडिशा के प्रसिद्ध स्थान पुरी में इसकी स्थापना की गई | जो भगवान जगन्नाथ मंदिर से संबंधित है|

Read More :- MP की प्रमुख गुफाएँ


शारदा मठ कहाँ स्थित है? ,भारत में चार मठों की स्थापना किसने की?श्रृंगेरी पीठ कहाँ स्थित है?,आदि शंकराचार्य के चार मठ ,aadi shankaraachaary kee guphaen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *